स्वच्छता
Thur Dec 7 2017 , 13:28:16

नवोदय विद्यालय समिति

Navodaya Vidyalaya Samiti

( शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत एक स्वायत्त संस्थान) भारत सरकार
( An Autonomous Body Under Ministry of Education) Government Of India

जवाहर नवोदय विद्यालय गौतम बुद्ध नगर

Jawahar Navodaya Vidyalaya Gautam Budh Nagar

स्वच्छता

जवाहर नवोदय विद्यालय राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी का मंत्र "स्वच्छता ही ईश्वर है" का अनुसरन  करता है  । उन्होंने जीवन भर व्यक्तिगत और सामुदायिक स्वच्छता के लिए प्रदर्शन, प्रचार और जोर दिया।
स्वच्छता एक स्वच्छ आदत है जो हम सभी के लिए बहुत आवश्यक है।स्वच्छता हमारे घर, पालतू जानवरों, परिवेश, पर्यावरण, तालाब, नदी, स्कूलों आदि सहित अपने आप को शारीरिक और मानसिक रूप
से स्वच्छ रखने की आदत है, हमें हर समय अपने आप को साफ, स्वच्छ और अच्छी तरह से रखना चाहिए। यह समाज में एक अच्छा व्यक्तित्व और छाप बनाने में मदद करता है
क्योंकि यह एक साफ चरित्र को दर्शाता है। हमें पृथ्वी पर हमेशा के लिए जीवन अस्तित्व की संभावना बनाने के लिए पर्यावरण और प्राकृतिक संसाधनों (जल, भोजन, भूमि, आदि)
को अपने शरीर की स्वच्छता के साथ बनाए रखना चाहिए। भारत को स्वच्छ बनाने के बारे में महात्मा गांधी की क्रांतिकारी दृष्टि थी। इस प्रशंसनीय दृष्टि को साकार करने की दिशा में स्वच्छ भारत अभियान के साथ स्वछता मिशन को एकीकृत किया गया है।
महात्मा गांधी के स्वच्छ और स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने के लिए। श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वयं स्वच्छता अभियान चलाया। गंदगी को साफ करने के लिए झाड़ू उठाकर, स्वच्छ भारत अभियान को
पूरे देश में एक जन आंदोलन बना दिया, प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों को न तो कूड़े उठाने चाहिए, न ही दूसरों को कूड़ेदान देने चाहिए। उन्होंने g ना गंडगी करंगे, ना कर देगे ’का मंत्र दिया।

स्वच्छता ही सेवा